Categories
bulk milk cooler Hindi

क्या है डेयरी उद्योग में बीएमसी के महत्व, जिससे गांव के लोग कमा रहे है लाखों रुपए और कैसे कर सकते है शुरुआत ?

डेयरी फार्मिंग और पशुपालन के व्यवसाय से जुड़े किसानो को बीएमसी के बारे में शायद ही पता होगा | बीएमसी का मतलब है बल्क मिल्क कूलर जिसका  डेयरी उद्योग में दूध को ठंडा करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है  | दरअसल यह एक तरह का सेंटर होता है, जिसे किसी भी ग्रामीण इलाके में इस प्लाट को स्थापित किया जाता है |

इस प्लांट में पशुपालक द्वारा दिए गए दूध को ठंडा किया जाता है और ख़राब होने से रोका जाता है | फिर एकत्रित  किये दूध को खपत हुए इलाके पर या फिर डेयरी प्लांट कंपनियों में बेचा जाता है | 

ऐसे में अगर आपको भी प्लांट लगाना है तो सबसे पहले अपने गावों वालो से दूध खरीदना पड़ेगा और फिर उससे शहर में या बड़ी डेयरी प्लांट वाली कंपनियों को बेचना पड़ेगा | बीएमसी का मतवपूर्ण कार्य भी यही होता है | आइये जानते है कैसे करे शुरुआत :- 

कैसे करे शुरुआत ? :- आप यह बिज़नेस किसी भी डेयरी कंपनी के साथ शुरुआत कर सकते है, जिसमे आप 50 प्रतिशत का निवेश डेयरी कंपनी से ले सकते है | बीएमसी में कम से कम 2000 लीटर तक का दूध एकत्रित हो सकता है. जिसको आप बाहर बेच सकते हो | 

बीएमसी मशीन काम कैसे करती है ?:- बीएमसी मशीन का तापमान 4 डिग्री तक होता है जो दूध को ठंडा करने का कार्य करता है और इससे बाहर निकालने के बाद भी दूध कई घंटों तक खराब नहीं होता | इस मशीन की सफाई भी आसानी से हो जाती है | 

इसके अलावा अगर बीएमसी मशीन लगवाना चाहते हो तो आप एनके डेयरी एकुप्मेंट से सहायता ले सकते है | यहाँ पर आपको बीएमसी मशीन के साथ-साथ और भी कई  डेयरी फार्मिंग और पशुपालन से जुड़े इक्विपमेंट उपलब्ध है |

Categories
dairy products Hindi

अब कम खर्चों में शुरू करे पानी का बिज़नेस , हर महीने होने लग जाएगी हज़ारो में कमाई

पानी है तो सब कुछ नहीं तो कुछ भी नहीं, यह मिथ्स बिलकुल सच है की पानी के बिना जीवित रहना मुमकिन 

नहीं | इसलिए आज-कल के समय में पानी के बिज़नेस को सबसे बड़ा बिज़नेस माना गया है | अगर आप भी पानी का बिज़नेस शुरू करना चाहते हो तो कुछ लाखों रुपयों के आरओ प्लांट लगाकर शुरू कर सकते है | इसके लिए आपको लाइसेंस लेना होगा और मिनरल वाटर का प्लांट लगाना होगा, जिसकी  सप्लाई से आप बिज़नेस को शुरू किया जा सकता है | आइये जानते है कैसे शुरू करे पानी का बिज़नेस :- 

 

पानी का  बिज़नेस को कैसे बढ़ाये? 

प्यूरिफाई किया गए पानी बोतल में भरकर ऑफिस, घर या दुकान में सप्लाई किया जा सकता है | मार्किट में ऐसे अनेक तरह मशीनें उपलब्ध है जो मिनटों में अनेको जार में पानी भर देती है और उसे पैक कर देती है | यह पूरी प्रक्रिया एयर टाइट होता है | जार के लिए आपको जार बनाने वाली कंपनी से संपर्क करना होगा, इसका आपको लगभग 10-15 हजार रुपये का खर्च होगा और पैकिंग मशीन का खर्च अलग है | | 

 

इस प्लांट की लागत  कितनी  होगी ?  

इस बिज़नेस में कम से कम 3 लाख रूपये तक का खर्चा  है  जिसमे आप आरओ प्लांट , जार और पैकिंग मशीन का लेकर बिज़नेस शुरू कर सकते है | अगर अपने काम का दायरा बढ़ना चाहते हो तो एक गाड़ी तो होनी चाहिए  जिससे आप  घर या ऑफिस जाकर पानी को सप्लाई कर सके | 

अगर इससे बिज़नेस से जुडी कोई भी जानकारी या भी कोई मशीन खरीदना चाहते हो तो आप एनके डेयरी इक्विपमेंट से ले सकते है | इनके पास बिज़नेस से जुड़े  हर तरह के इक्विपमेन्ट मौजूद है |  

Categories
Dairy Information Hindi

पाइपलाइन मिल्किंग पार्लर की मदद से आधुनिक डेयरी फार्मिंग को बनाया जा सकता है आसान

पाइपलाइन मिल्किंग पार्लर क्या है ?

पाइपलाइन मिल्किंग पार्लर यह एक ऐसी तकनीक या प्रणाली है जिसकी सहायता से गायों की थानों में से दूध को पाइप लाइन द्वारा स्वचालित तरीके से निकाला जाता है | यह एक तरह की विशेष मशीन या टेक्नोलॉजी है , जिससे सहायता से व्यक्ति को हाथ का उपयोग कम होता है और  गाय की थानों दूध से दूध भी निकाल लिए जाता है  | प्रत्येक गाय से एक-एक करके दूध को निकालने के बजाए, मशीन सीधा ही गाय की थानों में जाकर जुड़ जाती है  और लम्बे पाइप की सहायता से दूध को  निकाल कर एकत्रित किया जाता  है | इस मशीन की वजह से समय भी कम लगता है और यह भी सुनिश्चित होता है की दूध देने वाला क्षेत्र गाय के लिए स्वच्छ और स्वस्थ है | 

गाय का पार्लर में प्रवेश :- गाय को पार्लर में एकत्रित किया जाता है , इस क्षेत्र में गाय को आरामदायक स्थिति में रखा जाता है, जिससे दूध निकलने में आसानी होती है | 

स्वचालित इकाइयों से दूध निकालना :- जब सभी गाय अपनी जगह में आ जाती है , तो स्वचालित तरीके से दूध देने वाली इकाइयां गाय की थानों में जाकर जुड़ जाती है | 

गाय की थानों से दूध निकालना :- यह इकाइयां वैक्यूम के दबाव का उपयोग करके गाय की थानों से दूध निकालने का काम करती है |  

पाइपलाइन विधि :-  दूध पाइपों की सहायता से एक क्षेत्र में प्रवाहित होता है | इस प्रणाली को दूध को दूषित होने से रोकने के लिए डिज़ाइन किया गया है | 

नियंत्रण और देखरेख :- इस प्रक्रिया को सम्पूर्ण देखरेख और नियंत्रण कंप्यूटर तकनीक द्वारा किया जाता है और इस बात का भी ध्यान रखा जाता है की सभी गाय से कुशलतापूर्वक दूध निकालने की प्रक्रिया की जाए और दूध को सही तरीके से एक प्रणाली में एकत्रित किया जाए | 

पाइपलाइन मिल्किंग पार्लर लाभ क्या है?

कम समय में काम होना :-  पहले क्या होता था कि किसान को अपने हाथों की सहायता से एक-एक करके गाय की थानों से दूध निकालना पड़ता था, जिससे समय बहुत लगता था  और मुश्किलों का सामना भी करना पड़ता था  | पर पाइपलाइन मिल्किंग पार्लर की सहायता से यह काम बहुत आसान हो गया है और समय की भी बचत होती है | 

गाय को आरामदेह देना:- गाय की थानों से धीरे- धीरे और कुशलतापूर्वक क्रिया से दूध निकला जाता है, जिसकी वजह से गाय आरामदायक और स्वस्थ महसूस करती है | 

लेबर का उपयोग कम होना :- इस मशीन की वजह से डेयरी फार्मिंग लेबर का उपयोग से राहत मिली है, जिससे अन्य कृषि कामों के लिए समय भी बच जाता है | 

स्वच्छता में उन्नति होना :-  पाइपलाइन पार्लर दूध देने वाले क्षेत्र को साफ़ और स्वच्छ रखते है, इसकी वजह से मानव संपर्क भी कम होता है और दूध को दुषित होने से रोका जाता है | 

डेयरी फार्मिंग को बढ़ाने में सहायक है:- यह किसानो की डेयरी फार्मिंग के व्यवसाय को बढ़ाने में भी सहायक है | 

अगर आपको इससे जुड़ी कोई भी सलाह लेना चाहते हो तो आप एन.के.डेयरी इक्विपमेंट से ले सकते है, इनके पास डेयरी फार्मिंग से जुड़ी हर तरह के इक्विपमेंट मौजूद है |  

Categories
Hindi khoya making machine

दूध से खोया, क्रीम समेत 100 और व्यंजन, मशीन की मदद से निकालना हुआ आसान!

दूध से क्रीम निकालने की मशीन क्या हैं ?

  • दूध से क्रीम निकालने वाली मशीन एक उपयोगी मशीन है जिसकी सहायता से दूध से क्रीम को निकाला जाता है। इस मशीन को दूध सेपरेटर मशीन और क्रीम सेपरेटर मशीन के नाम से भी जाना जाता है।
  • एक मात्र दूध से क्रीम निकाल कर हम काफी मुनाफा कमा सकते हैं जिससे कि हमारी आमदन में भी काफी मुनाफा होगा। 
  • तो वहीं दूध से क्रीम अपकेंद्रीकरण की प्रक्रिया के द्वारा निकाला जाता हैं। 

यदि आप अधिक मुनाफा कमाने की चाहत को बरकरार रखना चाहते हैं तो बिना समय गवाए आज ही दूध से क्रीम निकालने की मशीन को ख़रीदे।  

मल्टी फूड प्रोसेसिंग मशीन क्या हैं ?

आज के इस लेखन में हम मल्टी फूड प्रोसेसिंग मशीन और दूध से कई दुग्ध खाद्य प्रदार्थ निकालने की मशीन के बारे में जानेगे, जिनका वर्णन हम निम्न में प्रस्तुत करेंगे ;

  • मल्टी फूड प्रोसेसिंग मशीन एक मात्र वो मशीन हैं जिसकी मदद से हम खाने के कई सारे व्यंजन आसानी से बना सकते हैं। 
  • इस मशीन की मदद से आप खजूर के बीज से कॉफी और खजूर के छिलकों से मिल्क शेख बहुत ही आसानी से बना सकते हैं बस इसके लिए आपको बढ़िया किस्म के मशीन लेने की जरूरत हैं। 
  • तो वही इस मशीन का चुनाव रेस्टुरेंट, ढाबा और जिन्होंने कम समय में ज्यादा व्यंजन बनाना होता है वो करते हैं। 

दूध से कई खाद्य प्रदार्थ निकालने की मशीन !

एक मात्र दूध से आप कई खाद्य प्रदार्थ निकाल सकते हैं जिनका वर्णन हम निम्न में करेंगे –

  • खोया या मावा बनाने की मशीन।  
  • क्रीम सेपरेटर मशीन। 
  • मक्खन को मथने की मशीन। 
  • पनीर काटने की मशीन। 
  • दही बनाने की मशीन। 
  • बल्क मिल्क कूलर। 
  • दूध को गर्म करने का टैंक। 
  • दूध विश्लेषक इत्यादि। 

इस मशीन का चुनाव करने से पहले आपको एक बात ध्यान में रखनी हैं कि दूध से जो भी प्रदार्थ बनते हैं उससे जुड़े सभी व्यंजनों की मशीन आपके पास होनी चाहिए। 

यदि आप दूध से खोया निकालना चाहते हैं। तो इसके लिए आप इन मशीनो में से खोया मशीन का चुनाव कर सकते हैं। 

दूध से क्रीम निकालने या मल्टी फूड मशीन की कीमत क्या हैं ?

इन मशीनो की कीमत इनके काम पर निर्भर करती हैं। मतलब की ये अगर आप ज्यादा मुनाफा कमाना चाहते हो तो मशीन की खरीद पर भी उतना ही पैसा लगाना पड़ेगा। जैसे…

यदि आप एक  फूड मशीन को खरीदते है तो उसके लिए आपको 60 हजार रुपए से लेकर 1,07,000 रुपए तक खर्च करना पड़ सकता हैं। 

तो वहीं अगर दूध से क्रीम,खोया,मक्ख़न,घी या और व्यंजन निकालने की बात करें तो ऐसी मशीन की कीमत लगभग 5000 रूपए से शुरू होकर और आगे बढ़ती जाती है। दूध की मात्रा के हिसाब से। 

निष्कर्ष :

यदि आप अच्छा मुनाफा कमाने के बारे में सोच रहे हैं, तो बिना समय गवाए उपरोक्त दूध से तमाम व्यंजन निकालने की मशीन का चुनाव करें। पर आपको एक बात धयान रखनी है कि यदि आप इस मशीन को खरीदने के बारे में सोच रहें हैं तो इस मशीन के बारे में अच्छे से जानकारी एकत्र करें।

तो वही इस मशीन को खरीदने के लिए एन.के डेयरी इक्विपमेंट्स का चयन भी आप कर सकते हैं। क्युकि यहाँ पर मशीन इनके यहाँ काम करने वाले लोगो के द्वारा ही बनाया जाता हैं, जिससे कि मशीन में खराबी होने की संभावना काफी कम होती हैं।

Categories
cream separator Hindi khoya making machine

दूध से क्रीम खोया और मक्खन निकालना हुआ आसान क्रीम सेपरेटर मशीन का करे इस्तेमाल

क्या है ये क्रीम सेपरेटर की मशीन :

क्रीम सेपरेटर मशीन: बता दे की ये वो मशीन है जिससे जितने भी हमारे किसान भाई हैं, वो इस मशीन की मदद से बहुत ही आसानी से दूध से मक्खन,क्रीम,खोया निकाल सकते हैं |

जहा इस मशीन से किसानो को तो फायदा होता ही हैं, तो वही दूसरी और इस मशीन से डेरी उत्पादकों का भी काफी फायदा होता हैं |

 क्या फायदे है खोया मावा या क्रीम सेपरेटर मशीन के :

इस मशीन का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इस में बनाया गया कोई भी मिश्रण (मख्खन,खोया,क्रीम ) ख़राब नहीं होता , जिससे की किसानो को काफी मुनाफा होता हैं |

इस मशीन से हम एक मात्र दूध से कई सारे पर्दार्थो का निर्माण करते है, जिससे कि समय का भी बचाव होता है और पैसे भी काफी बन जाते हैं |

यहाँ गौरतलब करने वाली बात ये है की जिन किसानों या डेयरी संचालकों के पास रोज 100 लीटर से ज्यादा के दूध का उत्पादन होता है वे लोग दूध के कुछ हिस्से का खुद से पनीर, दही, छाछ, खोया और देसी घी बनाकर बेचे तो उन्हें काफी मुनाफा मिलेगा इस मशीन से।

इस मशीन की कीमत क्या हैं :

बता दे की इस मशीन की कीमत दूध के लीटर पर आधारित होती है मतलब कि ये अगर आप 100 लीटर वाली मशीन खरीदते हैं, तो उसकी कीमत 40,000 के आस पास होगी। तो इस हिसाब से आप अंदाजा लगा सकते है कि कितने लीटर की मशीन का दाम कितना होगा |

सुझाव :

यदि आप भी दूध से क्रीम या दूध से बने अन्य उत्पाद निकालना चाहते हैं, तो दूध से क्रीम निकालने की मशीन, खोया मशीन जरूर ख़रीदे और अच्छा मुनाफा पाए। 

दूध से क्रीम को निकालने की प्रक्रिया :

अक्सर हम दूध से क्रीम निकालने की मशीन आसानी से ख़रीद लेते है पर उस मशीन का इस्तेमाल कैसे करना है वो हम नहीं कर पाते, तो कुछ निम्न बातों को ध्यान में रख कर हम इस मशीन कि प्रक्रिया के बारे में जानेगे………….  

  • सबसे पहले आपको क्रीम सेपरेटर का सही रूप से किसी भारी आधार के साथ नट बोल्टों की सहायता से इसे पक्का कर देना चाहिए ताकि जब उसे चलाया जाए तो ये हिले नही। 
  • इसके बाद स्प्रेटर का हर हिस्सा साफ़ सुथरा होना चाहिए और इस्तेमाल करने के बाद इसको खोल कर अच्छी प्रकार से गर्म पानी से धोना और सुखा लेना चाहिए। और स्प्रेटर में दूध डालने से पहले यदि दूध को हल्का गर्म किया जाए तो क्रीम में वसा अधिक मात्रा में निकलेगी।
  • ध्यान रहे की क्रीम सेपरेटर को कम वोल्टेज पर नहीं चलाना हैं, क्युकि कम वोल्टेज से उसकी स्पीड में अंतर आ जाता है और स्प्रेटे दूध में अधिक फैट की मात्रा की हानि होती है। और सेपरेटर में गेयर आयल का ध्यान रखना चाहिए और इसे समय-समय पर बदलते रहना चाहिए ताकि आपको कोई परेशानी न हो। 
  • तो वहीं सेपरेटर के विभिन्न हिस्सों को सावधानी और कुशलता से जोड़ना और खोलना चाहिए क्योंकि एक भी डिस्क खराब हो जाती है तो क्रीम सेपरेटर अच्छी तरह काम नहीं करेगा।

निष्कर्ष :

यदि आप भी दूध से इतने व्यंजन बनाना चाहते है, तो NK Dairy Equipments जोकि हरियाणा में स्थित हैं से इस मशीन को मंगवा सकते है, और बता दे कि इस मशीन को मँगवाने की सुविधा ऑनलाइन भी प्रस्तुत हैं।

Categories
ghee plant Hindi khoya making machine

जानें खोया और घी प्लांट मशीन से कैसे होगी बेहतरीन कमाई ?

बढ़ती महंगाई के चलते खाने वाली चीज से लेकर डेयरी उत्पादों का भी काफी भाव बढ़ चुका है। पर बहुत से लोग ऐसे भी है की कम दाम और बेहतरीन चीज की चाहत रखते है जिसके चलते काफी बार डेयरी उत्पादकों को नुकसान हो जाता है।

पर अब कहीं न कहीं उनका नुकसान कम होगा, क्योंकि पहले उन्हें डेयरी प्रोडक्ट को बनाने में काफी खर्चा होता था पर अब सिर्फ एक मशीन की मदद से डेयरी उत्पादक को एक साथ कई प्रोडक्ट बनाने की सुविधा तो होगी ही और साथ ही उनका मुनाफा भी अच्छा होगा, तो जानते है की आखिर वो ऐसी कौन-सी मशीन है जिसकी मदद से डेयरी उत्पादकों को काफी मुनाफा होगा ;

खोया मशीन कैसे फायदेमंद है डेयरी उत्पादक कार्यो में ?

  • बिजली उपकरण का उययोग करके डेयरी उत्पादक खोया मशीन से काफी मुनाफा कमा सकते है। वही इस मशीन से कम समय में बहुत सारा खोया आसानी से बना सकते है। 
  • इस खोया मशीन की मदद से खोया भी शुद्ध और सही क्वालिटी में बनता है और इसके स्वाद में भी कोई खराबी नहीं होती जिसके चलते डेयरी उत्पादक आसानी से इस मशीन से बहुत सारा खोया निकालने में सक्षम हो पाते है। अगर आप भी मशीन से खोया बनाने वाला प्रोडक्ट लेना चाहते है तो भारत में डेयरी उपकरण निर्माता का चयन करें। 

घी बनाने वाली मशीन कैसे डेयरी उत्पादकों को दिला सकती है मुनाफा ?

  • LPG गैस और बिजली से चलने वाली इस मशीन की मदद से खोया, पनीर, दही और देसी घी आसानी से बनाया जा सकता है। वही बाजार में 100 लीटर दूध की क्षमता वाली मशीन की कीमत करीब 40000 के आस-पास है।
  • इस मशीन की मदद से डेयरी उत्पादकों को भी काफी मुनाफा होता है। इसलिए आप भी अगर चाहते है की आपको और अधिक मुनाफा हो तो इसके लिए आपको खोया मशीन, घी प्लांट का चयन करना चाहिए। 

क्या खोया, पनीर, दही और देसी घी बनाने वाली मशीन डेयरी उत्पादकों को खरीदनी चाहिए ?

  • इन मशीनो का चुनाव अक्सर वही लोग करते है जिनका अपना खुद का बड़ा डेयरी उत्पादक का काम है इसके अलावा बहुत ही कम समय में इस मशीन की मदद से डेयरी उत्पादक को काफी मुनाफा हो सकता है अगर वो इस मशीन का चयन करते है। 
  • वही यह मशीन महंगी जरूर है पर आपको एक बार ही ये खर्चा करना है उसके बाद आगे चल के आपको मुनाफा ही मुनाफा हो सकता है इस मशीन की मदद से। 

सुझाव :

अगर आप भी डेयरी उत्पादक का काम शुरू करने वाले है तो इसको शुरू करने से पहले आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपको आगे चल के कोई नुकसान न हो इस बिजनेस से। इसलिए इस बिजनेस को शुरू करने से पहले दूध से जो भी प्रोडक्ट बनते है उसको बनाने वाली मशीन का चयन करें और अगर आप इस सोच में है की आप इस मशीन का चयन कहा से करेंगे तो इसके लिए हम आपको एन.के डेयरी इक्विपमेंट्स से इस मशीन को खरीदने की सलाह देंगे। क्योंकि यहाँ पर मशीन अच्छी क्वालिटी और उचित दाम में आसानी से मिल सकता है।

निष्कर्ष :

अगर आप मशीन को खरीदने के बारे में सोच रहें है तो इसको खरीदने से पहले मशीन की ब्लेट्स अच्छे से देखे की वो अच्छे से घूम रही है या नहीं और मशीन के बारे में अच्छे से जानकारी जरूर से हासिल करें।

Categories
Hindi News

डेयरी किसान होंगे मालामाल, दूध बेचने के इस तरीके का करके इस्तेमाल?

दूध से होगा किसानो व डेयरी उत्पादकों को मुनाफा ?

 दूध बेचने से आप कई गुणा मुनाफा कमा सकते हैं,वो भी कम समय में जैसे अगर बात करे दूध से पनीर, खोया, घी और मक्खन निकालने की |

इसके लिए बस आपको एक मशीन की जरूरत पड़ेगी, जिससे की आप अपने मुनाफो को आसानी से हासिल कर सकते हैं। वो भी डबल प्रॉफिट के साथ।

यदि आप दूध सेपरेटर मशीन से खोया निकालना चाहते हैं तो उसके लिए आपको खोया मशीन की जरूरत पड़ सकती हैं।

किस मशीन की जरुरत पड़ती हैं, इतनी सामग्रियों को निकलने के लिए ?

 इसके लिए आपको एक खोया, पनीर और देसी घी बनाने वाली मशीन खरीदनी होगी। जोकि एलपीजी गैस और बिजली से चलने वाली मशीन हैं।

        दूध से क्रीम निकालने की मशीन को दूध सेपरेटर मशीन और क्रीम सेपरेटर मशीन के नाम से जाना जाता हैं।

  • इस मशीन के जरिये मिनटों में दूध को गर्म किया जा सकता है और जरूरत के हिसाब से खोया, पनीर, दही और देसी घी बनाकर मुनाफा कमाया जा सकता है।
  • बाजार में 100 लीटर दूध की क्षमता वाली मशीन की कीमत करीब 80 हजार के आस-पास है। ये मशीन 150 लीटर, 200 लीटर, 300 लीटर की क्षमता में भी मिलती है और इसका इस्तेमाल करना काफी आसान है। बता दे कि मशीन की कीमत दूध के लीटर पर निर्भर करती है।
  • इस मशीन का फायदा ये भी है कि दूध को तो हम दो से चार घंटे तक ही बचा कर रख सकते हैं। लेकिन यदि इससे खोया, देसी घी और पनीर जैसी चीजें बना दी जाएं तो एक से दो दिनों तक रखा जा सकता है और अच्छी कीमत पर बाजार में बेचा जा सकता है।

मशीन की मदद से खुद के ब्रांड को बनाना हुआ आसान !

 सभी मुनाफो में एक मुनाफा ये भी शामिल है कि जितने भी डेयरी उत्पादक या हमारे किसान भाई हैं. वो इस मशीन की मदद से जहा इतने व्यंजन बना सकते हैं. वही इस मशीन से बने मिष्ठानो पर अपने ब्रांड का नाम भी लिख सकते। जिससे उन्हे काफी फ़ायदा भी मिल सकता है।

दूध सेपरेटर या क्रीम सेपरेटर मशीन से क्रीम निकालने का तरीका ?

 इस मशीन के सही तरीकों के इस्तेमाल करने का वर्णन हम निम्न प्रस्तुत कर रहे है,..

  • क्रीम स्प्रेटर को सही रूप से किसी भारी आधार के साथ नट बोल्टों की सहायता से पक्का कर देना चाहिए ताकि जब उसे चलाया जाए तो वो हिले नही।
  • स्प्रेटर का हर हिस्सा साफ़ सुथरा होना चाहिए और इस्तेमाल के बाद इसको खोल कर अच्छी प्रकार से गर्म पानी से धोना और सुखा लेना लाभकारी हैं।
  • स्प्रेटर में दूध डालने से पहले यदि दूध को हल्का गर्म किया जाए तो क्रीम में वसा अधिक मात्रा में निकलेगी।
  • क्रीम स्प्रेटर को कम वोल्टेज पर नहीं चलाना चाहिए।
  • स्प्रेटर के विभिन्न हिस्सों को सावधानी और कुशलता से जोड़ना और खोलना चाहिए।

निष्कर्ष :

यदि आप किसान है या डेयरी उत्पादक है, तो उपरोक्त बताई गई मशीन आपके काफी काम आ सकती है। इस मशीन के बारे में तमाम जानकारी एकत्र करने के बाद ही आप किसी अच्छे दुकान से इस मशीन को मंगवाना। तो वही कुछ लोगो को ये परेशानी भी आ रही होगी की सही मशीन का चुनाव कहा से करे। तो एनके डेयरी इकुप्मेंट्स का चुनाव करके भी आप इस मशीन को मंगवा सकते हो और इसका फ़ायदा आप आसानी से ले सकते हैं।

Categories
Dairy Plants Dairy Processing Hindi

डेयरी उद्योग में खोया मशीन, क्रीम सेपरेटर जैसी मशीनरी सिस्टम ने मचाया धमाल,हर एक क्षेत्र में किया विकास

खोया मशीन, क्रीम सेपरेटर जैसी मशीनरी ने मचाया

दूध से क्रीम कैसे निकाला जाता है इस बारे में हम बात करेंगे,क्युकि बहुत से ऐसे लोग है जिन्हें इस मशीन की आवश्यकता पड़ती है पर अफ़सोस उन्हे इस बारे में जानकारी नहीं होती जिस कारन वो यह मशीन या तो खरीदते नहीं और मान लो अगर खरीद भी लेते हैं तो उन्हे उचित जानकारी नहीं होती जिस कारन उनका कई बार नुकसान भी हो जाता हैं, पर उम्मीद है कि इस कॉन्टेंट को पड़ने के बाद आपकी काफी हद तक मशीन को खरीदे या न खरीदे वाली परेशानी हल हो जाएगी |

  • अब कुछ लोगो के दिमाग में यह बात गूँज रही होगी की दूध से क्रीम निकालने वाली मशीन का नाम क्या हैं ,तो बता दे कि इस मशीन को दूध सेपरेटर मशीन और क्रीम सेपरेटर मशीन के नाम से आम तौर पर जाना जाता है जिसकी मदद से आसानी से हम और आप दूध से क्रीम निकाल सकते हैं |
  • और वही इस प्रक्रिया को आम बोल चाल में अपकेंद्रीकरण के नाम से जाना जाता हैं |

 अब हम बात करेंगे कि दूध सेपरेटर या क्रीम सेपरेटर मशीन खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए…..

 क्रीम सेपरेटर खरीदने से पहले आपको स्पष्ट होना चाहिए के किस क्षमता की मशीन आपको चाहिए यहाँ ये भी बता दे की जितनी बड़ी क्षमता का सेपरेटर होगा उतना ही कम क्रीम को अलग करने में कम समय लगेगा और आपकी दूध की प्रक्रिया को तेज़ी से करने में मदद भी करेगा जिस से की यह ख़राब नहीं होगा |

  • जिस क्रीम सेपरेटर के सभी दूध संपर्क भाग स्टेनलेस स्टील 304 खाद्य ग्रेड सामग्री के बने होते हैं आपको वही क्रीम सेपरेटर चुनना चाहिए और गैर खाद्य सामग्री जैसे प्लास्टिक, हलके स्टील आदि के साथ दूध में प्रतिक्रिया भी हो सकती है जो की प्रदूषण का कारण भी बन सकती है |

यहाँ एक बात ध्यान रखने वाली है कि ऑफ लाइन क्रीम सेपरेटर तीन श्रेणियों में उपलब्ध है पहला बिजली वाली, दूसरा हाथ से चलने वाली और तीसरा हाथ और बिजली दोनों से चलने वाली | यदि आप जहा रहते है और वहां बिजली बार-बार चली जाती है तो आपके पास हाथ और बिजली से चलने वाली मशीन भी होनी चाहिए!

  • क्रीम सेपरेटर का स्टेनलेस स्टील का बाउल सबसे महत्वपूर्ण भाग है इस मशीन में क्योंकि यह लगभग 8000 आर पी एम घूमता है इसलिए स्टेनलेस स्टील का बाउल फोर्जिंग प्रक्रिया से बनाया जाना चाहिए |
  • और एक बात यह भी सुनिश्चित कर ले के कि आपूर्ति कर्ता आपको 10 वर्षों तक के मशीन को चलने के लिए सामग्री उपलब्ध करवाए
  • सेपरेटर के स्पेयर पार्ट्स आसानी से एक दूसरे के साथ विनिमय होने चाहिए
  • मशीन को सुचारु रूप से चलाने के लिए यह सुनिश्चित कर ले कि जो सेपरेटर खरीद रहे हैं उस के साथ 1 वर्ष के उपभोग भाग साथ हों

दूध में वसा के अलग करने की दक्षता जो है वो 0 .00 5 % होनी चाहिये जो की अधिकतम सेन्ट्रीफ्यूगल बल के साथ उपलब्ध भी होती है

ये हमने बात की है कि किस तरह अगर कोई किसान वर्ग है या कोई आम व्यक्ति है अगर उसने इस मशीन को खरीदना है तो एक बार इन जानकारियों से अवगत जरूर हो जाए ताकि उसको किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े बस इसमें कुछ चीज़ो को ध्यान मै रखना होगा जो की हमने आपको बता ही दिया है और दूध से क्रीम कैसे निकाला जाता है वो भी आपको पता लग ही गया होगा

निष्कर्ष….

और हां अगर आपको खोया मशीन, क्रीम सेपरेटर जैसी मशीनरी खरीदनी है लेकिन कहा से खरीदे वो नहीं पता तो आप एन.के डेयरी इक्विपमेंट पर जा कर ले सकते हैं और आसानी से इसका इस्तेमाल भी कर सकते है