Categories
A2 milk khoya

What is A2 Milk and Why is it Growing in Popularity?

Do you know what A2 milk is? Because of its potential health benefits, this sort of milk is rapidly gaining popularity among health-conscious consumers. In this blog post, we’ll look at what A2 milk is and why it’s becoming more popular. We at nkdairyequipments, as leading dairy equipment manufacturers in India, are committed to producing high-quality dairy equipment such as khoya machine and ghee plant that may be utilized in the production of A2 milk. We understand the significance of making dairy products that are not only tasty but also safe and healthy for consumers. That is why we assist our customers in producing A2 milk that satisfies the highest quality and safety standards.

What is A2 Milk?

A2 milk is a sort of cow’s milk that contains just the A2 beta-casein protein, instead of A1 milk, which contains both A1 and A2 beta-casein proteins. A2 milk is accepted to be easier to digest than A1 milk, and a few researches have recommended that it might likewise be related with lower rates of specific medical issue, like heart disease and type 1 diabetes. A2 milk is produced by cows that normally just produce the A2 beta-casein protein, or through specific rearing or genetic testing.

For what reason is A2 Milk Growing in Popularity?

As more customers become aware of the potential medical advantages related with A2 milk, interest for this kind of milk is growing. Furthermore, A2 milk might be a good choice for individuals who are lactose intolerant or experience issues digesting standard milk. A few customers likewise lean toward the flavor of A2 milk, which is depicted as being creamier and less tangy than normal milk.

At nkdairyequipments, we’re committed to producing top-quality dairy equipment that can be utilized in the production of A2 milk. Our khoya machines are intended to deliver great khoya, a well known dairy item utilized in many Indian desserts and sweets. Produced using A2 milk, khoya is a flavorful and nutritious option in contrast to standard milk that can assist consumers with enjoying in the potential medical advantages of A2 milk. Essentially, our ghee plants are intended to deliver excellent ghee, a kind of clarified butter that is normally utilized in Indian cooking. Produced using A2 milk, ghee is a rich and delightful option in contrast to regular butter that is accepted to offer a range of health advantages.

Conclusion

If you’re keen on exploring the potential health advantages of A2 milk, or are searching for a dairy item that is easy to digest, A2 milk might worth consider. As leading dairy equipment manufacturers in India, we’re pleased to help the production of top-quality A2 milk items through our khoya machines and ghee plants. Reach us today to dive deeper into how we can assist you with delivering great dairy items that fulfill the growing need for A2 milk.

Categories
A2 milk khoya butter churan machine

दूध से क्रीम निकालने की प्रक्रिया जान मुनाफा कमाना हुआ अब और आसान !

क्रीम स्प्रेटर कौन सी मशीन हैं ?

 क्रीम स्प्रेटर को सामान्यतः दूध से क्रीम निकालने वाली मशीन के नाम से जाना जाता हैं।

इसकी मदद से ही डेयरी उत्पादक काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

इस मशीन से खोया,घी,पनीर भी आसानी से निकाल सकते हैं, इनके मशीनो के प्रकार के हिसाब से।

क्रीम स्प्रेटर से क्रीम निकालने की प्रक्रिया क्या हैं ?

  • क्रीम स्प्रेटर को सही रूप से किसी भारी आधार के साथ नट बोल्टों की सहायता से पक्का कर देना चाहिए, ताकि जब उसे चलाया जाए तो वो हिले नही।
  • तो वही दूध से क्रीम अपकेंद्रीकरण की प्रक्रिया के द्वारा निकाला जाता हैं।
  • स्प्रेटर का हर हिस्सा साफ़ सुथरा होना चाहिए और इस्तेमाल के बाद इसको खोल कर अच्छी प्रकार से गर्म पानी से धोना और सुखा लेना चाहिए।
  • स्प्रेटर में दूध डालने से पहले यदि दूध को हल्का गर्म किया जाए तो क्रीम में वसा अधिक मात्रा में निकलेगी।
  • क्रीम स्प्रेटर को कम वोल्टेज पर नहीं चलाना चाहिए क्युकि कम वोल्टेज से उसकी स्पीड में अंतर आता है।
  • स्प्रेटर के विभिन्न हिस्सों को सावधानी और कुशलता से जोड़ना और खोलना चाहिए।

इन सभी प्रक्रिया को करना तभी संभव है, यदि आपके पास दूध से क्रीम निकालने की मशीन उपलब्ध होगी।

क्रीम स्प्रेटर के उपयोग क्या हैं ?

 इसके बहुत से उपयोग हैं, जिन्हें हम निम्न प्रस्तुत कर रहें हैं.,,

क्षय रोग के कीटाणुओं को दूर भगाएं।

गुणवत्ता वाला दूध प्रदान करें।

दूध से दुर्गंध दूर करें।

बेहतर क्रीम प्रदान करें।

दूध को शुद्ध करें।

काम का बोझ कम करें।

दूध से क्रीम निकालने वाली मशीन की लागत क्या हैं ?

  • दूध से क्रीम निकालने के मशीन की लागत दूध के हिसाब से होती हैं. तो वहीं यह मशीन दूध से वसा को 66 प्रतिशत भाग क्रीम के रूप में दूध से अलग कर देती है।
  • अगर आप भी इस प्रकार की मशीन को खरीदना चाहते है तो इसकी शुरुआती लागत 5 हजार रुपए से शुरू होती है और दूध की बढ़ोतरी के हिसाब से बढ़ती जाती है।

इसके लागत को देखते हुए आप खोया मशीन को भी खरीद सकते हैं, जिससे की आपको एक मात्र दूध से काफी मुनाफा मिल सके।

क्रीम स्प्रेटर मशीन खरीदने से पहले किन बातों का रखें ध्यान ?

  • क्रीम स्प्रेटर खरीदने से पहले आपको स्पष्ट होना चाहिए के किस क्षमता की मशीन की खरीददारी आपको करनी हैं।
  • जिस जगह पर आप रह रहें है वहां बिजली की कटौती ज्यादा होती हो तो हाथ से चलने वाली मशीन का चयन आपको करना चाहिए।
  • मशीन को सुचारु रूप से चलने के लिए यह सुनिश्चित कर ले कि जो स्प्रेटर खरीद रहे हैं उसके साथ 1 वर्ष के उपभोग भाग जरूर साथ हो।

निष्कर्ष :

यदि आप दूध से अत्यधिक मुनाफा कमाना चाहते हो तो किसी अच्छे क्रीम स्प्रेटर मशीन का चुनाव करें। ताकि इस मशीन को खरीदने में आपने जो लागत लगाई हैं. वो कुछ दिनों के अंदर पूरी हो सकें। और साथ ही मशीन को खरीदने से पहले इनसे जुडी बातों का खास ध्यान रखें। यदि आप इस मशीन को खरीदने जा रहें हो तो इसके लिए आप एन.के डेयरी एकुइप्मेंट्स का भी चुनाव कर सकते हैं. क्युकि यहाँ पर मशीन का निर्माण किया जाता हैं जिससे की आप यहाँ से दूध से खोया, दूध से पनीर, दूध से घी, या और भी तरह की मशीन को आप खरीद सकते हैं।

 

 

Categories
A2 milk khoya khoya making machine

खोया बनाने की विधि, मशीन, फायदे, प्रकार और नुकसान जिन्हें जान कर आप भी होंगे हैरान |

विधि क्या हैं खोया बनाने की ?

 इस लेखन में हम जानेंगे की खोया बनाने के लिए हमे किन विधियों से होकर गुजरना पड़ता हैं..

  • खोया बनाने के लिये सबसे पहले दूध को एक कड़ाही या किसी गहरे बर्तन में गर्म करें। (कड़ाही लोहे की हो ऐसा जरूरी नहीं है)
  • जब दूध धीरे-धीरे गर्म होने लगता है और उसमे उफान आने लगता है। तो ताप का विशेष ध्यान दें |
  • समयसमय पर एक बडी छेद-दार करछी से धीरे-धीरे दूध हीलाते रहें, ताकि उसमें दूध का रंग जला हुआ ना लगे।
  • दूध को तब तक गर्म करना होता है, जब तक गाढ़ा ना हो जाये।
  • थोड़ी देर में यह ठोस रूप ले लेता है। अब इसे आप उतार कर ठंडा कर लें। ठंडा हो जाने पर यह दानेदार हो जाता है इसके बाद आप दूसरे बर्तन मे रखकर खोया को निज़ी इस्तेमाल में ला सकते हैं।

खोया के कितने प्रकार है :

 खोया बनाने के मुख्ततः तीन प्रकार है, जिनका वर्णन हम निम्न करेंगे..

बट्टी खोया :

 इस खोए के प्रकार में पहले दूध को अधिक गाड़ा किया जाता है, फिर बना हुआ खोया दूध का करीब पांचवा हिस्सा ही रह जाता है। बता दे कि खोया बनने के बाद, कटोरे के आकार में खोया जमा दिया जाता है।

  • और इस खोया को लड्डू और बर्फी बनाने के काम में लिया जाता है।

चिकना खोया:

 इस खोया को दाव खोया के नाम से जाना जाता है, और यह खोया बट्टी खोया की ही तरह बनता है, लेकिन इसे बट्टी खोया जितना गाढ़ा नहीं होने दिया जाता,यानी कि इसको थोड़ा पहले ही उतार लिया जाता है।

  • तो वही खोया देखने में हलवा जैसा गाढ़ा होता है। और यह खोया रसगुल्ले बनाने के काम मे लिया जाता है।

दानेदार खोया :

 इस खोए को भी दूध से ही बनाया जाता है, लेकिन… इसमें दूध में उबाल आने से पहले थोड़ा सा नीबू का रस डालकर दाने दार बना लिया जाता है, जिसे खोया बनाने वाले कारीगर अच्छे से जानते हैं।

  • तो वहीं इस खोए का प्रयोग कलाकन्द,लड्डू और दाने दार लौकी की बर्फी बनाने के लिये किया जाता है।

सुझाव :

 यदि आप भी आज के मिलावटी खाने से निजात पाना चाहते है, तो आज ही दूध से क्रीम निकालने की मशीन, खोया मशीन का इस्तेमाल करें और मिलावटी खाने से छुटकारा पाए |

फायदे क्या है खोया खाने के :

 खोया खाने के निम्नलिखित फायदे है, जो हमारे शरीर को काफी ऊर्जा प्रदान करते हैं..

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करती हैं।
  • हड्डियों को मजबूत बनाती हैं।
  • हृदय के लिए फायदेमंद।
  • बालों को मजबूत बनाती हैं |
  • त्वचा के लिए फायदेमंद हैं।

नुकसान क्या है मिलावटी खोया खाने के :

 आप में से बहुत से लोग सोच में पड़ गए होंगे की भला दूध से बनें व्यंजनों से वो भी नुकसान, कैसे हो सकता है…तो बता दे कि दूध से बनें पकवानों का भी नुकसान हैं, यदि आप नकली किस्म के खोए या मावे का इस्तेमाल करते हैं..

० उल्‍टी और दस्‍त का आना नकली खोए के इस्तेमाल से |

० क‍िडनी के ल‍िए नुकसानदायक |

० पेट में दर्द होना |

० अपच की समस्‍या का सामना करना |

निष्कर्ष :

यदि आप भी शुद्ध और किफ़ायती दूध से बने व्यंजन खाना चाहते हैं, तो NK Dairy Equipments से खोया बनाने वाली मशीन जरूर खरीदे। और अपनी सेहत का ध्यान रखें और मिलावटी खाद्य प्रदार्थो से खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रखे।

 

Categories
A2 milk khoya khoya making machine Manufacturing Machine

A2 Khoya Milk Production: Understand the use and its benefits

A2 Milk Khoya Production – An Integral Part Of Dairy Business Success

Have you heard of the name A2 milk khoya? If not, it’s important to understand that it is an important approach to accelerate the dairy business. Cheese production is wider in India because of its use in Indian sweets. Khoya is primarily known as mawa. That’s why dairy business owners look for inventive and modern technology-based Khoya Making Machine.

Khoya production & its increasing demand in India

For the well-known Dairy Equipment Manufacturers in India, there’s an increased opportunity to offer the customers the most elite choices. And with that comes the factor of offering the production of up-to-date machinery and equipment. When you talk about it’s the milk base and can be produced from buffalo and cow milk. Even a mixture of condensed milk, thick cream, and powdered milk can produce the food quality khoya. Being an important part of the production process, it accounts for making everything properly managed, and the dairy business gets to have better chances to manage everything.

A2 milk khoya – Know it’s effectiveness in terms of Nutrition

Whether you are running a ghee plant or milk plant or try your hands on any other dairy business, it plays an important role to mention the product’s nutritional value. When you tell the customers about the same, it makes it easier for them to know what they are buying and whether it’s worth it. Likewise, with the A2 milk khoya or mawa, there’s enough presence of:

  • Calorie
  • Protein
  • High-fat

Carbs are the most effective choice to boost the overall energy in the body. The option of carbs is required by the body in moderation to let it enjoy the necessary benefits to the fullest. Khoya intake benefits the body to boost overall immunity, work against tissue repair, and provide enough energy.

Factors that account for market quality for khoya prepared using desi cow milk

The factors that let the market quality not get hampered at any cost with the use of desi cow milk are:

  • Keep physical quality intact
  • Ensure the chemical quality is balanced
  • Microbiological quality – Although it still needs to be prescribed

Enlist the health benefits of A2 milk khoya

The choice of A2 milk khoya has a set demand, and that accounts for various reasons like:

  • The A2 khoya milk comes under the low-fat category, which gives it less risk of cardiovascular problems. The blend of different minerals makes it effective for overall well-being.
  • With the intake of A2 khoya milk, bone health is benefited as the body can get the right amount of calcium, Vitamin D, and phosphorus.
  • The choice of A2 khoya milk comes under the category of milk-based food options that allows overall quality to be higher and provide benefits against muscle growth and overall development.